आधार कार्ड एक मूल्यवान प्रतिभूति है

आधार कार्ड एक मूल्यवान प्रतिभूति हैक्या भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) की ओर से जारी आधार कार्ड एक सचमुच मूल्यवान प्रतिभूति है ? क्योंकि हम जानते हैं कि आधार कार्ड हमारे व्यक्तिगत पहचान का एक प्रमाणिक स्वरूप है। इस प्रपत्र में हमारा नाम, पिता का नाम, जन्मतिथि, पता आदि ही नहीं बल्कि हमारे हाथों के उंगलियों की छाप भी होती है। जिसमें कोई डुप्लीकेसी नहीं हो सकती।

दो व्यक्तियों के नाम आपस में मिलते- जुलते हो सकते हैं। चेहरे आपस में मिलते-जुलते हो सकते हैं। लेकिन दो व्यक्तियों के हाथों की उंगलियों के निशान एक जैसे नहीं हो सकते। इसलिए आधार कार्ड खुद और उससे जुड़ने वाले के, कोई भी डाक्यूमेंट्स पूरी तरह सुरक्षित हो जाते हैं।

आधार हर भारतीय के आर्थिक, सामाजिक एवं राजनैतिक स्तर को उठाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जब हम आधार को अर्थ या धन से जोड़ते हैं तो आधार कार्ड वह महत्वपूर्ण दस्तावेज बन जाता है जिसके बिना बैंक या पोस्ट ऑफिस में खाता खोलना संभव ही नहीं है।

भारत के सभी वित्तीय लेनदेन में, बैंकिंग सेवाओं में आधार पर ही पूर्णतया विश्वास किया गया है। भारतीय बैंकिंग सेवाओं ने माना कि परिचय के तौर पर आधार कार्ड के लगाने के पश्चात ही पारदर्शिता और सुरक्षा बनी रह सकती है।

यही नहीं अब भारत सरकार के आयकर विभाग ने भी आधार को पैन कार्ड से जोड़कर यह संदेश दे दिया है कि यदि हमें टैक्स पर लगाम रखना है तो पैन कार्ड के साथ-साथ आधार कार्ड ही उसका आधार बन सकता है, जिससे आयकर की बढ़ती चोरी पर अंकुश लगाया जा सकता है।

भारत सरकार के आम आदमी का सामाजिक स्तर ऊंचा करने में अनेक सरकारी योजनाओं का आधार, आधार कार्ड ही है। भारत सरकार का उद्देश्य यही है कि उनके द्वारा चलाई जा रही योजनाओं से भारत का हर नागरिक लाभान्वित हो सके। इसलिए केंद्र सरकार या राज्य सरकारों द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करते समय हमें अपने आधार की डिटेल्स अवश्य भरनी होती है।

देश के आम आदमी के लिए चलाई जा रही योजनाएं जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना आदि का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड एक अनिवार्य शर्त है। जब कि नेताओं द्वारा अपने राजनैतिक जीवन को उच्च बनाने के लिए चुनाव लड़ने हेतु आधार कार्ड भी वोटर कार्ड के साथ उनका एक प्रमुख पहचान पत्र है।

चुनाव में नामांकन करते समय आधार कार्ड की कॉपी भी लगती है। अब भारतीय चुनाव आयोग भी मतदाता पहचान पत्र (voter ID) को आधार कार्ड से जोड़ने के लिये आगे बढ़ चुका है, क्योंकि भारतीय चुनाव आयोग भी आधार कार्ड की पारदर्शिता को अपनाना चाहता है।

भारत के युवाओं के लिए कैरियर पाने की दिशा में आधार कार्ड एक प्रमुख दस्तावेज है। किसी भी प्रवेश परीक्षा या नौकरियों के लिए आप तब तक परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं कर सकते, जब तक आप अपना महत्वपूर्ण परिचय पत्र आधार कार्ड नहीं दिखाते।

इसके अलावा स्टूडेंट लाइफ भी आधार से जुड़ी हुई है। भारत वर्ष के किसी भी एजुकेशन बोर्ड या यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में बैठने के लिए फॉर्म भरते समय आधार कार्ड एक अनिवार्य प्रपत्र है।

इन सबके अतिरिक्त यदि आप या आपका पुत्र या पुत्री टी. वी के किसी रियल्टी शो में ऑडिशन देते हैं तो आधार कार्ड ही आपके परिचय का प्रमुख आधार बनता है। टी. वी. के सभी लोकप्रिय शो चाहे वह इन्डियल आइडिल हो, इंडिया गॉट टैलेन्ट हो या डांस इन्डिया डांस ऐसे सभी रियल्टी शो का हिस्सा बनने के लिये आप तभी फार्म भर सकते हैं जब आपके पास आधार कार्ड हो।

कहने का अर्थ यह कि एक कलाकार बनने के लिये भी आधार कार्ड आवश्यक है। इसीलिए अब भारत के हर परिवारों ने इसकी इम्पोर्टेन्स को पहचान लिया है। अब किसी भी परिवार में किसी बच्चे के जन्म लेते ही उसके बड़े होने पर उनके माता-पिता की पहली चिंता उसके आधार कार्ड बनवाने की होती है।

क्यों कि जो महत्व सांस लेने के लिये ऑक्सीजन का है वही महत्व अपने देश में एक नागरिक के सफल जीवन के लिये आधार कार्ड का है। इसलिए हर भारतीय के पास आधार कार्ड होना अति आवश्यक है।

कभी-कभी यह अपवाह उड़ती है कि आपके आधार कार्ड का डेटा कोई चुरा सकता है। जबकि यह अपवाह पूरी तरह निराधार है। क्योंकि आपके आधार की डिटेल्स पूरी तरह सुरक्षित है। इसे कोई भी चुरा नहीं सकता क्योंकि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के द्वारा उपयोग किए जाने वाले एडवांस सिक्योरिटी सिस्टम्स इस बात के लिए जागरूक हैं।

अब आपकी सुरक्षा के लिये लगातार इस तकनीकी में अपडेट भी होते जा रहे हैं। क्योंकि UIDAI को आप से अधिक इस बात की चिंता है कि आपका डेटा पूरी तरह सुरक्षित रहे। ताकि आपका आधार के प्रति विश्वास चट्टान की तरह कायम रहे।

लेकिन यदि आपका मूल्यवान आधार कार्ड कहीं चोरी हो जाता है या खो जाता है तो ऐसी स्थिति में आपको इसकी सूचना निकटतम थाने में अवश्य देनी चाहिए।

लेकिन इस बात से निश्चिंत रहिये क्योंकि कोई भी आपके आधार की सहायता से आपके बैंक अकाउंट से पैसे नहीं निकाल सकता। क्योंकि जब तक माइक्रो ए टी एम में आपके बैंक खाते से जुड़े रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से O T P का विवरण नहीं दिया जाता तब तक कोई भुगतान संभव ही नहीं है।

सितंबर में पैदा हुए व्यक्तियों के प्रेम को समझ पाना बहुत मुश्किल है ओवरवेट Rashmi Desai ने सिर्फ वॉक करके घटाया अपना वज़न विद्या बालन ने अपनी अनेक फिल्मों में बोल्ड सीन दिये जो चर्चा में रहे