सपने में बूंदी का प्रसाद देखना

रात को सोते समय कभी-कभी ऐसे सपने आते हैं जिसे देखकर हम गहरे सोंच-विचार में पड़ जाते हैं कि आखिरकार मुझे वह सपना क्यों आया? क्या है इस सपने का वास्तविक अर्थ ? यह सपना मुझे किस बात का संकेत देना चाहता है?

इसी तरह का एक स्वप्न है कि जिसमें सपने में बूंदी का प्रसाद दिखाई देता है तो मन में सवाल आता है कि यह स्वप्न हमारे लिये कौन सी बात बताना चाह रहा है। आइये जानते हैं कि क्या है इस सपने का संदेश। यह स्वप्न हमारे लिये सुख आने का सूचक है अथवा दुःख के आगमन की आहट है ?

अथवा इस सपने के माध्यम से ईश्वर आपको कुछ संकेत देना चाहते हैं। वैसे तो अधिकांश स्वप्न विश्लेषणकर्ताओं ने सपने में प्रसाद को देखना सकारात्मकता का प्रतीक माना है। ऐसा कहा जाता है कि सपने में प्रसाद देखना आपकी उन्नति का संकेत है। लेकिन सपने में बूंदी का प्रसाद देखना कुछ अलग ही संदेश देता हैं। आपकी जिज्ञासा को और न बढ़ाते हुये आइये जानते हैं कि सपने में बूंदी का प्रसाद देखना आखिर क्या विशेष संकेत देता है?

बूंदी का प्रसाद किन देवता का प्रसाद है?

हम सबसे पहले आपसे एक प्रश्न करना चाहते हैं कि बताइये कि बूंदी का प्रसाद किन देवता का प्रसाद है? सोचिए…सोचिए जरा अपने मस्तिष्क पर जोर डालिये। जी हाँ ,सही उत्तर दिया बूंदी का प्रसाद हनुमान जी का परम प्रिय प्रसाद है।

सपने में बूंदी का प्रसाद देखना

मंगलवार और शनिवार के दिन बजरंग बली को बेसन के लड्डू का प्रसाद अथवा बूंदी का प्रसाद ही चढ़ाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि बूंदी का प्रसाद संकट मोचन हनुमान जी को अत्यधिक भाता है। ऐसी मान्यता है कि बूंदी का भोग लगाने से पवनसुत हनुमान जी शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं।

सपने मे बूंदी का प्रसाद देखना, आपको कुछ याद दिलाना चाहता है

वाराणसी के पंडित दिवाकर प्रसाद जी का कहना है कि सपने में बूंदी का प्रसाद दिखाई देना यह बताता है कि पवन पुत्र हनुमान जी आपको यह याद दिलाना चाहते है कि हे भक्त, तुमने मुझे विस्मृत कर दिया है। तुम अब मेरे मंदिर भी नहीं आते और न ही बूंदी का प्रसाद चढ़ाते हो।

तुम्हारे हाथों से भोग लगाया हुआ प्रसाद खाकर मुझे बहुत आनंद आता था। क्योंकि उसमें तुम्हारी सच्ची भक्ति का स्वाद होता था। लेकिन अब तुम बहुत समय से मेरे मंदिर नहीं आते और ना ही मेरी पूजा- पाठ करते हो। हनुमान जी संदेश देना चाहते हैं कि मेरी तरफ से तुम्हारा और मेरा, भगवान और भक्त का संबंध आज भी कायम है। लेकिन हे भक्त , तुम उस मधुर संबंध को शायद भूल गये हो।

सपने में बूंदी का प्रसाद देखने पर क्या करें?

हो सकता है कि आप पहले बजरंग बली के परम भक्त रहे हों। हर मंगल अथवा शनिवार को हनुमान मंदिर जाते रहे हों लेकिन जैसे -जैसे जीवन व्यस्त होता गया आप पूजा- पाठ भूलते गये अथवा आपने कोई मनौती मांगी हो कि यदि मेरा मनोरथ पूर्ण हो जायेगा तो मैं हनुमान जी को बूंदी का प्रसाद चढ़ाउंगा।

लेकिन अभिलाषा पूरी होने के बाद आप प्रसाद चढ़ाना भूल गये। इसीलिए आपको सपने में बूंदी का प्रसाद दिखाई देने लगा।सपने में बूंदी का प्रसाद देखने पर मंगलवार या शनिवार को अपने क्षेत्र के हनुमान मंदिर जायें और वहाँ पहले हनुमान चालीसा का श्रध्दा पूर्वक पाठ करें।

इसके बाद बजरंग बली को मीठी-मीठी बूंदी का भोग लगायें और मंदिर में आये हुये अन्य भक्तों और गरीबों में बूंदी का प्रसाद बांटें। कुछ प्रसाद अपने परिवार के लिये लेकर घर आ जायें। आपके जीवन में सब मीठा-मीठा होने लगेगा। क्योंकि आप पर पुनः हनुमान जी की कृपा हो जायेगी।

Sharwari Gujar Shafaq Naaz सोशल मीडिया पर छायी हुई हैं शमा सिकंदर Vahbiz Dorabjee बला की खूबसूरत अभिनेत्री हैं Avneet Kaur net worth