सपने में श्रीकृष्ण भगवान की मूर्ति देखना

हम जब कभी रात को सोते समय किन्ही देवी-देवताओं को स्वप्न मे देखते हैं तब हम उन स्वप्नों की चर्चा अपने मित्रों , परिचितों अथवा संबंधियों आदि से किये बिना नहीं रह पाते हैं। क्योंकि देवी-देवताओं के सपनों को देखने के बाद हमारे मन में तरह -तरह के विचार जन्म लेने लगते हैं।

जिन्हें सोंचकर कभी तो हमारा हृदय प्रसन्न से भर उठता है तो कभी हम दुखी हो जाते हैं। हम प्रसन्न चित्त यह मानकर हो जाते हैं कि नींद में आया यह स्वप्न हमारे जीवन के लिये शुभ संकेत है। लेकिन फिर दूसरे ही पल मस्तिष्क में नकारात्मक विचार आते ही मन दुखी हो जाता है। लेकिन आज हम आपको स्वप्न शास्त्र के अनुसार बताने जा रहें हैं कि यदि आपके सपने में श्रीकृष्ण भगवान की मूर्ति दिखाई देती है तो यह किस बात का संकेत है।

सपने में सुदर्शन चक्र लिये हुये भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति देखना

यदि आपके स्वप्न में श्रीकृष्ण भगवान की सुदर्शन चक्र लिये हुये मूर्ति दिखाई देती हैं तो इस सपने का अर्थ यह है कि प्रभु आपके जीवन के दुखों , समस्याओं ,बाधाओं और शत्रुओं का नाश करने वाले है। कहने का अर्थ यह है कि सपने में श्री कृष्ण भगवान की सुदर्शन चक्र लिये हुये मूर्ति देखना अत्यंत शुभ संकेत है। इसका अर्थ है कि अब आपके दुःख भरे दिन जाने वाले है। क्योंकि आप पर श्री कृष्ण भगवान की कृपा हो गयी है।

सपने में राधा जी के साथ भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति देखना

यदि आप अपने सपने में राधा-कृष्ण की मूर्ति एक साथ देखते हैं तो यह स्वप्न इस बात का संकेत है कि आपके अपने जीवन साथी के साथ चल रहा तनाव समाप्त होने वाला हैं अथवा पहले से मधुर बनने वाला है। यह स्वप्न पति- पत्नी में आपसी कलह के स्थान पर प्रेम और माधुर्य स्थापित करने वाला है।

सपने में श्रीकृष्ण भगवान की मूर्ति देखना

इसके अतिरिक्त राधा-कृष्ण की मूर्ति का सपना देखना आपके हृदय में किसी के प्रति प्रेम भाव उत्पन्न कर सकता है। यदि आप अविवाहित हैं और सपने में राधा जी के साथ भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति देखते हैं तो आपके शीघ्र वैवाहिक-बंधन में बंधने के संकेत हैं। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि राधा- कृष्ण की जोड़ी का सपना सुखद जीवन को पाने का संकेत है।

सपने में भगवान श्रीकृष्ण की बालरूप की मूर्ति देखना

यदि आप सपने में भगवान श्रीकृष्ण के बचपन के स्वरूप को देखते हैं। तो यह उन दंपत्तियों के लिये शुभ संकेत है जो निःसंतान हैं। यह स्वप्न उनको संतान प्राप्ति संयोग बनाता है। साथ ही श्रीकृष्ण भगवान के बालरूप का स्वप्न घर से दूर रह रहे बेटे- बेटी के वापस घर आने का संकेत है। संतान-सुख पाना इस सपने का संदेश है।

भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति उनके सखाओं के साथ देखना

यदि आप सपने में श्रीकृष्ण भगवान की ऐसी मूर्ति देखते हैं जिसमें वह अपने मित्रों के साथ दिखाई दे रहें हैं। तो ऐसी संभावना व्यक्त की जाती है कि आपको निकट भविष्य में अपने किसी पुराने मित्र से भेंट हो सकती है अथवा शीघ्र ही मित्रों के साथ आपका समय आनंद और हर्षोल्लास में बीतने वाला है।

भगवान श्रीकृष्ण की टूटी हुई मूर्ति देखना

यदि आप सपने में भगवान श्रीकृष्ण की टूटी हुई मूर्ति देखते हैं तो यह स्वप्न शुभ नहीं है। इस सपने का अर्थ यह है कि आप पर प्रभु की कृपा में कम हो गयी है अथवा निकट भविष्य में आप पर कोई संकट आने वाला है। इस अशुभ स्वप्न उपाय कर आने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। इसके लिये आपको कृष्ण मंदिर में जाकर प्रभु की आरती में सम्मलित होकर उन्हें माखन- मिसरी का भोग लगाना चाहिये और मुरलीमनोहर से अपने लिये दयादृष्टि की याचना करनी चाहिए।

Sharwari Gujar Shafaq Naaz सोशल मीडिया पर छायी हुई हैं शमा सिकंदर Vahbiz Dorabjee बला की खूबसूरत अभिनेत्री हैं Avneet Kaur net worth