हनमुान जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए या नहीं

panchmukhi-hanuman-ji-hanuman-jyanti

हनुमान जी भगवान श्री राम के परम भक्त माने गए हैं। ऐसा कहा जाता है कि एक बार कोई व्यक्ति यदि हनुमान जी की शरण में आ जाए तो उसका कल्याण हो ही जाता है। बल, बुद्धि और विद्या पाने के लिए, टोने टोटके और बुरी नजर से रक्षा के लिए और अपने संपूर्ण जीवन के कल्याण के लिए सभी व्यक्ति हनुमान जी की शरण लेते हैं।

उनकी पूजा करने वालों के साथ हमेशा मंगल ही होता है। बजरंगबली जी संकट मोचक हैं, उनका नाम लेने मात्र से ही हमें बड़ी से बड़ी तकलीफों से चुटकियों में छुटकारा मिल जाता है। बजरंगबली जी की पूजा करने वाले भक्त अपने घरों में उनकी विभिन्न प्रकार की मूर्तियां और चित्र स्थापित करते हैं ताकि किसी भी प्रकार की दुख या तकलीफ उनके घर और परिवार से कोसों दूर रहे।

लेकिन क्या आपको पता है कि बजरंगबली जी की हर प्रकार की मूर्ति या चित्र अपने पूजा घर पर नहीं रखे जाते। तो आइए हम जानते हैं कि बजरंगबली की किस प्रकार की मूर्तियां या चित्र हमें अपने घर में रखनी चाहिए और कौन सी नहीं रखनी चाहिए।

घर में हनुमान जी की कौन सी मूर्ति नहीं रखनी चाहिए

सबसे पहले हम यह जानने का प्रयास करते हैं कि श्री बजरंगबली जी के किन स्वरूपों को घर में लाने से अस्थिरता आती है और मनुष्य के जीवन में परेशानियां बढ़ जाती हैं। हनुमान जी की तस्वीर या प्रतिमा जिसमें वे संजीवनी पर्वत लेकर उड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं, ऐसे चित्र या प्रतिमा में उड़ते हुए दिखने के कारण ऐसी मान्यता है कि यह अस्थिरता का प्रतीक होता है और इसलिए हमें इन्हें घर में नहीं रखना चाहिए।

ऐसा करने से हमारे जीवन में निरंतर उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। ठीक उसी प्रकार से हमें अपने घर में भगवान हनुमान जी द्वारा लंका दहन करने वाला चित्र घर पर नहीं रखना चाहिए, जो कि वास्तु के अनुसार भी सही नहीं है। हमें अपने घर में श्री हनुमान जी का ऐसा चित्र जिसमें वह दुष्टों का दलन कर रहे हैं या युद्ध कर रहे हैं, भी नहीं रखना चाहिए।

घर में हमें रौद्र रूप वाले या क्रोध करते हुए हनुमान जी की तस्वीर, चित्र या प्रतिमा नहीं रखनी चाहिए। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात, हमें हनुमान जी की सीना चीरते हुए तस्वीर या मूर्ति अपने घर पर नहीं रखनी चाहिए ऐसा करने से घर में और मन में नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

हनुमान जी की कौन सी मूर्ति घर में रखना चाहिए?

आइए अब हम जानते हैं कि हनुमान जी के किस प्रकार के चित्र या प्रतिमा हमारे घर के मंदिर में हमें स्थापित करने चाहिए। हनुमान जी के चित्र में भी अपार शक्ति मानी गई है और यदि इसे वास्तु के अनुसार हमारे घर में स्थापित किया जाए तो हमारा भविष्य चिंता मुक्त और स्वर्णिम हो सकता है।

श्री हनुमान जी का ऐसा चित्र अति उत्तम माना गया है जिसमे उनकी युवावस्था दर्शाई गई हो, उन्होंने पीले वस्त्र धारण कर रखे हो तथा उन्होंने आशीर्वाद मुद्रा लगा रखी हो। ऐसे चित्र से आपके घर में सुख शांति और समृद्धि हमेशा बनी रहेगी। घर में सौहार्द का वातावरण सदैव बना रहेगा।

यदि आपके घर में पढ़ने वाले और कंपटीशन देने वाले बच्चे हैं तो आप उनके कमरे में भगवान हनुमान जी की लाल लंगोट पहने हुए चित्र वाली प्रतिमा या चित्र लगा सकते हैं, ऐसा करने से पढ़ाई में उनका कंसंट्रेशन या ध्यान बना रहेगा और उन्हें सफलता अवश्य ही मिलेगी।

ऐसा चित्र जिसमे हनुमान जी श्री राम जी की सेवा में लीन हों, घर में लगाने से धन-धान्य में वृद्धि होती है। घर के जिस कोने में पूरा परिवार साथ बैठकर भोजन करता हो या समय व्यतीत करता हो, वहां श्री राम दरबार का चित्र जिसमें हनुमान जी हों, लगाने से घर परिवार के सदस्यों में प्रेम और अपनापन बढ़ता है।

पंचमुखी हनुमान जी की तस्वीर घर में कहाँ लगाए?

यदि आपका घर दक्षिणमुखी है तो ऐसे घर के प्रवेश द्वार पर पंचमुखी हनुमान जी की प्रतिमा या चित्र लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं करती है। यदि आपके घर में क्लेश का वातावरण रहता हो तो आप अपने घर की दक्षिण दीवार पर श्री हनुमान जी की बैठी हुई और लाल रंग के वस्त्र पहनी हुई प्रतिमा या चित्र स्थापित कर सकते हैं।

हमें यह सदैव ध्यान रखना चाहिए की घर में रखी हुई श्री हनुमान जी की प्रतिमा या चित्र हमेशा बैठी हुई अवस्था में होनी चाहिए। यदि आप इन सब बातों का ध्यान रखते हैं तो निश्चय ही आपके घर में शुभता का संचार होगा और आपका जीवन हनुमान जी की कृपा से मंगलमय होगा।

अपनी फ़िटनेस को ले कर संजीदा रहती हैं shweta tiwari अपनी निजी ज़िन्दगी सीक्रेट ही रखती हैं Anveshi jain सितंबर में पैदा हुए व्यक्तियों के प्रेम को समझ पाना बहुत मुश्किल है ओवरवेट Rashmi Desai ने सिर्फ वॉक करके घटाया अपना वज़न विद्या बालन ने अपनी अनेक फिल्मों में बोल्ड सीन दिये जो चर्चा में रहे