आधार कार्ड में सुधार कैसे करें

आधार कार्ड में सुधार कैसे करें जहाँ गलती है वहाँ सुधार की संभावना भी है। जहाँ परिवर्तन है वहाँ बदलाव भी है। दूसरे शब्दों में कहें तो हम किसी भी गलती में सुधार कर सकते हैं और कोई भी परिवर्तन होने पर उस परिवर्तन के अनुरूप बदलाव भी ला सकते हैं। आधार कार्ड वह महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की ओर से जारी होता है।

यह वह पहचान पत्र है जिसमें हमारा नाम, जन्मतिथि, पता आदि होता है। कभी-कभी आधार कार्ड के लिये आवेदन करते समय अपनी सही-सही जानकारी एनरोलमेंट कराने पर भी जब हमारा आधार कार्ड हमें प्राप्त होता है तो उसमें नाम, पिता या पति एवं पते आदि में कोई प्रिंटिंग मिसटेक होती है तो ऐसी दशा में उसमे सुधार की आवश्यकता होती है।

इसी प्रकार यदि आपके पते, मोबाइल नंबर, ई मेल एड्रेस में यदि वास्तव में कोई बदलाव होता है तो ऐसी स्थिति में उसमें करेक्शन की जरूरत होती है। लेकिन कभी-कभी हम अपना नाम या सर नेम आदि बदल लेते हैं। ऐसी दशा में भी आधार कार्ड में सुधार आवश्यक हो जाता है़।

आधार कार्ड में नाम कितनी बार चेंज कर सकते हैं?

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के निर्देश के अनुसार आधार कार्ड की विभिन्न जानकारियों में बदलाव की एक निश्चित सीमा निर्धारित की गयी है। उदाहरण के लिये यदि आपको अपने नाम या सर नेम में सुधार कराना है तो उसे दो बार ही अपडेट कराया जा सकता है। इसी प्रकार यदि आपको अपनी जन्मतिथि या लिंग में परिवर्तन कराना है तो उसे मात्र एक ही बार बदला जा सकता है।

लेकिन यदि आपको अपना एड्रेस, मोबाइल नंबर या ई मेल एड्रेस को चेंज कराना है तो इसके लिये कोई प्रतिबंध नहीं है। आप चाहे कितनी भी बार अपने पते और मोबाइल नंबर में सुधार कर सकते हैं। उसे कितनी भी बार अपडेट करा सकते हैं। लेकिन इसका यह मतलब बिल्कुल नहीं हैं कि नाम, जन्मतिथि आदि को एक निश्चित बार अपडेट कराने के बाद उसमें सुधार नहीं किया जा सकता।

यदि आप किसी जानकारी का भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की ओर से निर्धारित सीमा के बाद अपडेट कराने के इच्छुक हैं तो उस जानकारी में सुधार हो सकता है़ लेकिन आपको इसके लिये आधार केंद्र आना अनिवार्य होगा, क्योंकि निर्धारित सीमा तक तो ऑन लाइन सुधार संभव है लेकिन उसके बाद आपको ऑफ लाइन ही रिक्वेस्ट करनी होगी।

इसलिये आधार कार्ड में कोई भी सुधार कार्य बहुत सोंच समझकर किया जाना चाहिए। बार-बार बदलाव संभव नहीं है। यदि आप अपने आधार कार्ड में कोई भी सुधार कराना चाहते हैं य़ा उसमें कोई अपडेट कराने के इच्छुक हैं तो सुधार के लिये अब परेशान होने की कोई आवश्कता नहीं, आप इसे ऑफ लाइन अर्थात आधार केंद्र पर जाकर या ऑन लाइन कंप्यूटर या लैपटॉप अथवा मोबाइल, किसी भी माध्यम से अपने आधार कार्ड को अपडेट करा सकते हैं।

आधार कार्ड में सुधार के लिये महत्वपूर्ण दस्तावेज

आप यदि अपने आधार कार्ड में उल्लिखित किसी जानकारी में सुधार लाना चाहते हैं तो आप यूं ही बदलाव नहीं कर सकते। कहने का अर्थ यह की आप जो भी बदलाव चाहते हैं उसके साक्ष्य के लिये आवश्यक डाक्यूमेंट का होना आवश्यक है़। बिना उन डाक्यूमेंट्स के, सुधार संभव ही नहीं है।

आप आधार केंद्र पर जाकर यह कहें कि मेरा नाम बदल दीजिए, मेरा नाम श्याम नहीं घनश्याम है। तो आधार केंद्र का कर्मचारी आपसे कहेगा कि इस बात का प्रमाण तो लाइए कि आपका नाम वास्तव में घनश्याम ही है। बिना प्रमाण के करेक्शन संभव नहीं है। आधार कार्ड में सुधार के लिये महत्वपूर्ण दस्तावेज निम्नलिखित हैं:–

  1. पासपोर्ट
  2. मतदाता पहचान पत्र
  3. ड्राइविंग लाइसेंस
  4. नरेगा जॉब कार्ड
  5. पैन कार्ड
  6. पेंशन कार्ड
  7. बैंक की पासबुक (फोटो सहित)
  8. विभाग द्वारा जारी पहचान पत्र
  9. शादी का प्रमाण पत्र
  10. राशन कार्ड आदि

आधार कार्ड में अपडेट ऑन लाइन होता है या ऑफ लाइन?

आज का युग कम्प्यूटर एवं इंटरनेट का युग है। पहले जो सारे काम संबंधित ऑफिस में जाकर होते थे, वह सारे काम-काज आज ऑन लाइन होने लगें हैं। इसका यह मतलब कदापि नहीं है कि अब ऑफ लाइन अर्थात कार्यालय जाकर काम नहीं होते।

आज किसी भी काम को करने की ऑन लाइन और ऑफ लाइन दोनों पद्धतियां हैं। जो रास्ता आपको आसान लगे अपना सकते हैं। जहाँ तक आधार कार्ड में सुधार कराने का प्रश्न है आप इसे भी ऑन लाइन या ऑफ लाइन दोनों तरीकों से कर सकते हैं।

आधार कार्ड अपडेट करने के दोनों ही रास्ते आसान हैं। ऑफ लाइन तरीके में आपको आधार केंद्र में जाकर अपडेट कराना पड़ता है, जबकि ऑन लाइन तरीके में आप अपने कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से घर बैठे ही सुधार कर सकते हैं।

आधार कार्ड में अपडेट कराने पर क्या खर्च आता है?

सवाल यह उठता है कि आधार कार्ड को अपडेट कराने या उसमें कोई सुधार कराने में कितना खर्च आता है ? इसका सीधा सा उत्तर यह है कि यदि हम अपने आधार कार्ड में, आधार केंद्र के माध्यम से अपडेट कराते हैं तो 25 रुपये से 50 रुपये तक का खर्च आता है। जब कि ऑन लाइन अपडेट करने में कोई खर्च नहीं आता।

आधार कार्ड में नाम कैसे सुधारें?

यदि आप अपने आधार कार्ड में अपने नाम में सुधार कराना चाहते हैं और इसके लिए यदि आप, ऑफ लाइन रास्ता अपनाना चाहते हैं तो इसके लिये आपको अपने नजदीकी आधार केंद्र पर जाना होगा।

आधार केंद्र का कर्मचारी आपको सुधार के लिये भरा जाने वाला एक फार्म देगा। उस फार्म को भरकर आप उसे आधार केंद्र पर जमा करेंगे।  साथ ही आपको अपने सही नाम का कोई प्रमाण अपने फार्म के साथ संलग्न करना होगा।

आधार केंद्र का वह कर्मचारी आपकी उस निवेदन को फारवर्ड कर देगा। साथ ही उसकी एक रसीद भी आपको देगा। 90 दिन के अंदर आपके नाम में अपेक्षित परिवर्तन हो जायेगा और आपको आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर इस बात की सूचना भी मिल जाएगी।

यदि आप ऑन लाइन तरीके से अपने आधार कार्ड के नाम में सुधार करना चाहते हैं तो इसके लिये आपको अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर Aadhaar self service portal खोलना होगा। जिसमें आपको अपने आधार नंबर को अंकित करना होगा।

इसके बाद आपको अपडेट कराने के कई ऑप्शन मिलेंगे। आपको अपने नाम में सुधार कराना है तो आप Name Update के विकल्प को चुनेंगे। उसके बाद आप अपने सही नाम को अंकित करेगें। सही नाम अंकित करने के बाद आपको अपने नाम का कोई प्रमाण पत्र स्कैन करके भेजना होगा।

उसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक O T P आयेगा। उस OTP को दर्ज करते ही आपकी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली जाती है।  आवेदन के तीन माह के अंदर आपके मोबाइल पर जानकारी के अपडेट होने की सूचना आ जाती है। आप अपना आधार कार्ड डाउनलोड भी कर सकते हैं।

आधार कार्ड में पति का नाम कैसे जोड़े?

यदि शादी के बाद कोई महिला अपने आधार कार्ड में अपने पति क़ा नाम जोड़ना चाहती है तो इसके लिये उसके पास ऑफ लाइन और ऑन लाइन दोनों विकल्प खुलें हैं। उन दोनों में से वह कोई भी रास्ता चुन सकती है। यदि वह अपने पति का नाम जोड़ने के लिये ऑफ लाइन माध्यम चुनती है तो उसे अपने निकट के आधार केंद्र पर जाना होगा।

जहाँ उसको सुधार के लिये एक फार्म भरने को मिलेगा। उस फार्म को भरकर उसके साथ मैरेज सर्टिफिकेट लगाकर जमा करना होगा।  जिसके बाद आधार केंद्र का कर्मचारी आपको एक रसीद देगा। 90 दिन के अंदर आपका आधार कार्ड अपडेट हो जायेगा।

जिसकी सूचना आपको अपने पंजीकृत मोबाइल फोन पर स्वतः मिल जायेगी। मोबाइल पर सूचना मिलते ही आप अपना अपडेटेड आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

यदि आप आधार कार्ड पर अपने पति का नाम जोड़ने के लिए ऑन लाइन मार्ग अपनाती हैं तो उसके लिये आपको अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या मोबाइल फोन का सहारा लेना होगा। सबसे पहले आपको Aadhaar Self Service Portal (S S U P) पर जाना होगा, जहाँ आपको add husband name का ऑप्शन मिलेगा।

उस विकल्प को चुनने के बाद आपको अपने पति का नाम भरना होगा। साथ ही अपने सुधार के साक्ष्य के रूप में मैरेज सर्टिफिकेट स्कैन करके भेजना होगा। इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल फोन पर एक OTP आयेगा।

उस OTP को भरते ही आपका निवेदन स्वीकार कर लिया जायेगा। जिसके बाद 90 दिन के अंदर आपके आधार कार्ड में अपेक्षित सुधार हो जायेगा। जिसकी सूचना आपको आपके मोबाइल फोन पर आ जायेगी। उसके बाद आप अपना आधार कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

शादी के बाद आधार कार्ड में नाम और पते के परिवर्तन के लिये आवश्यक दस्तावेज

शादी के बाद लड़की को आधार कार्ड में उसके पति के नाम को जोड़ने की आवश्यकता पड़ती है। साथ ही उसके घर के पते में परिवर्तन हो जाता है। अब तक उसके पिता का घर ही उसका पता था। शादी के बाद उसके पति का घर उसका पता हो जाता है।

आधार कार्ड में उसके पति का नाम और नये एड्रेस के लिये बस एक दस्तावेज सबसे महत्वपूर्ण प्रपत्र होता है जिसका नाम हैं-मैरेज सर्टिफिकेट, जो शादी को पंजीकृत कराने पर मिलता है।

शादी के बाद अपने पति के नाम एवं पते को अपडेट कराने के लिये मैरेज सर्टिफिकेट एक अनिवार्य प्रपत्र है। लेकिन अपने वैवाहिक प्रमाण पत्र से यदि आपने किसी अन्य परिचय पत्र को अपडेट करा लिया है़ तो वह भी मान्य होता है़।

आधार कार्ड वास्तव में कितने दिनों में अपडेट होता हैं

जगह-जगह यह पढ़ने या सुनने को मिलता है कि आधार कार्ड में अपडेट के लिये आवेदन करने पर 90 दिनों के अंदर आपका आधार कार्ड अपडेट हो जाता है। हमने भी अपने इस आर्टिकल में जगह-जगह इस बात का ज़िक्र किया है। आइए जानते हैं कि सच्चाई क्या है?

यदि आपके द्वारा आधार कार्ड अपडेट करते समय काम का लोड कम है़ तो आजकल पंद्रह -बीस दिनों के अंदर आधार कार्ड के अपडेट होने की संभावना रहती है़। लेकिन भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की ओर से अधिकतम 90 दिनों का समय देने के पीछे तर्क यह है़ कि आवेदक बार -बार पूछताछ न करे और अपने आधार कार्ड को पाने के लिये धैर्य बनाये रखे।

फिर 90 दिन की कौन कहे, 30 दिन के अंदर ही उसका आधार संबंधी काम हो जाने से वह मन ही मन भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण को धन्यवाद देता है़ l

सितंबर में पैदा हुए व्यक्तियों के प्रेम को समझ पाना बहुत मुश्किल है ओवरवेट Rashmi Desai ने सिर्फ वॉक करके घटाया अपना वज़न विद्या बालन ने अपनी अनेक फिल्मों में बोल्ड सीन दिये जो चर्चा में रहे