अगर आपको अपने खोये हुये आधार कार्ड का नंबर याद नहीं तो क्या फिर से आधार कार्ड बन जाएगा

अगर आपको अपने खोये हुये आधार कार्ड का नंबर याद नहीं तो क्या फिर से आधार कार्ड बन जाएगाकभी-कभी कुछ परिस्थितियाँ ऐसी आ जाती हैं कि आप उसमे कुछ कर नहीं सकते। मिस्टर गुप्ता आज बहुत अपसेट थे। हुआ यह था कि आज हाईकोर्ट के कैम्पस में उनका आधार कार्ड कहीं गिर गया था। वह अपने घर पर सर पर हाथ रखकर वह बैठे थे। क्योंकि उन्होनें अपना आधार नंबर किसी डायरी में भी नहीं लिखा था, जिससे कोई रास्ता निकलता।

बात सच है कि कभी-कभी दुर्भाग्य वश आधार कार्ड खो जाने की दशा में हम परेशान हो जाते हैं। लेकिन उस स्थिति में हम कुछ अधिक ही चिंतित हो जाते हैं जब हमें अपना आधार नंबर याद नहीं होता। मन में यही सवाल उठता है कि आधार कार्ड खो गया है जिसका नंबर भी याद नहीं, ऐसी दशा में उसे किस प्रकार दोबारा प्राप्त किया जा सकता है?

आखिर कैसे उस आधार कार्ड को दोबारा बनवाया जा सकता जिसका नंबर आपको याद न हो

हम इस लेख में इसी बात की चर्चा करने जा रहे हैं कि अगर खोये हुये आधार कार्ड का नंबर याद नहीं तो क्या ऐसी दशा में दोबारा आधार कार्ड बन जाएगा क्या? आधार कार्ड का नंबर याद न रहने की दशा में यह समस्या उत्पन्न होती है कि आधार नंबर के बिना अपने आधार कार्ड का दूसरा प्रिंट कैसे निकाला जा सकता है?

फिर हम सभी यह बात भी जानते हैं कि किसी व्यक्ति का एक ही आधार नंबर हो सकता है इसलिए नये आधार कार्ड के बनने की संभावना ही नहीं है। ऐसी विकट समस्या के हल के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने रास्ता निकाल दिया है।

UIDAI ने एक ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार किया है कि जिस पर अंगूठा रखते ही आपको आपका आधार कार्ड सामने नजर आने लगेगा। यह है न विज्ञान का चमत्कार! इसलिए यदि आपका आधार कार्ड गुम हो गया है और जिसका आधार नंबर भी आपको याद नहीं है तो ऐसी दशा में आपको परेशान होने की ज़रुरत नहीं है।

क्या करना होगा आपको 

दूसरा आधार कार्ड पाने के लिए आपको बस अपने नज़दीकी आधार केंद्र पर जाना होगा। वहां आधार केंद्र में आपसे आपके बारे में कुछ डिटेल्स ली जाएगी। जिसमें कि आपके एरिया का कोड, आपका नाम, और मोबाइल नंबर आदि प्रमुख हैं।

इसके बाद आधार केंद्र का कर्मचारी आपसे बायोमेट्रिक मशीन पर आपके अंगूठे और अंगुलियों की छाप लेगा। अपने अंगूठे और अंगुलियों के निशान आपने उस समय भी दिये होंगे जब आपने अपना आधार कार्ड बनवाया होगा।

बायोमैट्रिक्स जानकारियों के एकत्र करते ही आपकी पूरी डिटेल्स आधार नंबर सहित स्क्रीन पर नजर आने लगेगी। जिसे अब भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण(UIDAI) की वेबसाइट से डाउनलोड कर प्राप्त किया जा सकता है।

इस प्रकार मोबाइल नंबर याद न होने की दशा में भी आप अपने खोये हुये आधार कार्ड की दूसरी प्रिंट प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन आप अपने आधार कार्ड के गुम होने की रिपोर्ट अपने निकट के थाने में अवश्य दर्ज करा दें ताकि किसी भी स्थिति में कोई व्यक्ति आपके आधार कार्ड का किसी भी प्रकार से दुरुपयोग न कर सके, क्योंकि आपका आधार कार्ड आपकी पहचान है। अतः इसे संभाल के रखें l

सितंबर में पैदा हुए व्यक्तियों के प्रेम को समझ पाना बहुत मुश्किल है ओवरवेट Rashmi Desai ने सिर्फ वॉक करके घटाया अपना वज़न विद्या बालन ने अपनी अनेक फिल्मों में बोल्ड सीन दिये जो चर्चा में रहे